2 हजार 800 करोड़ के काम का मेगा लोकार्पण-भूमिपूजन: CG में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सड़क, पुल-पुलिया और भवनों का वर्चुअल उद्घाटन किया, सभी जिलों को मिला है कुछ-कुछ…

रायपुर/ राज्य सरकार ने आज निर्माण कार्यों का मेगा शो किया। मुख्यमंत्री निवास में आयोजित एक वर्चुअल समारोह में 2 हजार 834 करोड़ रुपए के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण हुआ। इसमें सड़क, पुल, पुलिया और भवनों का निर्माण भी शामिल है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंत्रियों-विधायकों के साथ ऐसी 401 परियोजनाओं का लोर्कापण और भूमि पूजन किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि जून महीने में राज्य के सभी जिलों में विभिन्न विभागों के 8 हजार 188 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया गया था। इनकी लागत 6 हजार 845 करोड़ रुपए थी। उसी दौरान घर-घर तक पेयजल पहुंचाने के लिए 238 करोड़ रुपए लागत की 658 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया था, जिस पर तेजी से काम जारी है। तब से लेकर अब तक लगातार और भी बहुत से नये कामों की शुरुआत हुई है, और पूर्ण हो चुके कामों का लोकार्पण भी लगातार किया जा रहा है। उन्होंने बताया, आज लोक निर्माण विभाग के 2 हजार 708 करोड़ की लागत वाले कार्यों के अलावा अन्य विभागों के 69 कार्यों का भी लोकार्पण और शिलान्यास किया जा रहा है। इनकी लागत 125 करोड़ 65 लाख रुपए है। इनमें ऐसे निर्माण कार्य शामिल है, जिनकी वर्षों से मांग रही है। उन्होंने कहा कि हम सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं की तरह निर्माण और जन-सुविधा विकास की योजनाओं पर भी तेजी से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बेहतर आवागमन सुविधा के लिए 312 सड़कों एवं पुलों का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। इसी तरह मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत 266 करोड़ की लागत वाले 2 हजार 262 कार्य तेजी से पूरे कराए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि नए निर्माण से राज्य में सड़क नेटवर्क को और मजबूती मिलेगी। साथ ही जन सुविधाओं का विकास तेजी होगा। आयोजन में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, गृह और लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, सांसद छाया वर्मा, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय और विधायक बृहस्पत सिंह भी मौजूद रहे।

तीन हजार किमी सड़कों की मरम्मत भी होगी

लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया, धरसा योजना के तहत खेत की सड़के बनाई जानी है। इसके अलावा नई सड़कों के निर्माण के साथ प्रदेश में तीन हजार किलोमीटर लंबी सड़कों की मरम्मत कराई जानी है। लोक निर्माण विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने कहा कि पौने तीन सालों में विभाग लगभग 12 हजार करोड़ रुपए के निर्माण कार्यों की स्वीकृति दी है। छत्तीसगढ़ सड़क एवं अधोसंरचना विकास निगम 5 हजार 225 करोड़ की लागत के 3 हजार 900 किलोमीटर लंबी सड़कों एवं पुल-पुलिया के निर्माण करा रहा है।

संभागवार किस जिले को कितना मिला

सरगुजा: कोरिया जिले में 95.70 करोड की लागत के 27 काम हैं। सूरजपुर में 60.69 करोड़ की लागत वाले 13 काम और बलरामपुर में 117.18 करोड़ की लागत के 14 काम मिले हैं। सरगुजा जिले में 99.07 करोड़ के 9 काम, जशपुर में 27.53 करोड़ के 6 काम मिले हैं।

बिलासपुर: रायगढ़ जिले को 203.04 करोड़ की लागत के 11 काम, कोरबा को 109.11 करोड़ की लागत वाले 6 काम और गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही को 23.95 करोड़ की लागत वाले 3 काम मिले हैं। मुंगेली को 50.40 करोड़ की लागत के 8 काम, बिलासपुर को 26.04 करोड़ की लागत के 5 काम मिले हैं।

रायपुर: यहां महासमुन्द जिले को 102.12 करोड़ की लागत के 16 काम, बलौदाबाजार जिले को 182.40 करोड़ की लागत के 34 काम मिले हैं। रायपुर को 271.32 करोड़ की लागत के 41 काम, गरियाबंद को 53.33 करोड़ की लागत के 6 काम और धमतरी जिले को 144.61 करोड़ की लागत का एक काम मिला है।

दुर्ग: इसमें बालोद जिले को 195.72 करोड़ की लागत के 15 काम और दुर्ग जिले को 115.11 करोड़ की लागत के 15 काम मिले हैं। बेमेतरा को 152.83 करोड़ की लागत के 24 काम कवर्धा को 130.19 करोड़ की लागत के 10 काम और राजनांदगांव को 145 करोड़ की लागत के 31 काम दिए गए हैं।

बस्तर: इसमें कांकेर जिले को 168.21 करोड़ की लागत वाले 26 काम, कोण्डागांव को 49.47 करोड़ की लागत वाले 11 काम और नारायणपुर को 52.87 करोड़ की लागत वाले 14 काम मिले हैं। बस्तर जिले को 139.12 करोड़ की लागत के 29 काम, दंतेवाड़ा को 29.99 करोड़ की लागत के तीन काम मिले हैं। बीजापुर जिले को 10.92 करोड़ की लागत के दो कार्य तथा सुकमा में 78.44 करोड़ की लागत वाले 11 काम शामिल हैं।

Print Friendly, PDF & Email

election result

election resultCorona

Translate »