जांजगीर-चाम्पा: मृत्युभोज में जमा हो गया मोहल्ला: 24 घंटे में गई 8 लोगों की जान फिर भी दशगात्र के भोज में पहुंच गए 80 से ज्यादा लोग, अब होगी FIR…

तस्वीर जांजगीर की है। लोगों को ये पता है कि संक्रमण किस कदर प्रदेश को घेर रहा है फिर भी ऐसी लापरवाह तस्वीर सामने आई।

जांजगीर/ जांजगीर जिले में कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब बिना अनुमति शनिवार को दशगात्र कार्यक्रम आयोजित किया गया। पूरा मामला पेंड्री गांव का है। यहां लोगों के लिए सामूहिक मृत्यु भोज भी कराया गया। जानकारी मिली है कि इस कार्यक्रम में करीब 80 लोग शामिल हुए थे। जिले में 13 अप्रैल से 23 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाया गया है। शादी, अंतिम संस्कार, दशगात्र जैसे काम पड़ जाएं तो पहले SDM से परमिशन लेना जरूरी है। अब लोगों की इस लापरवाही की वजह से अफसर FIR दर्ज कराने की तैयारी में है।

20 लोग ही हो सकते हैं शामिल
लॉकडाउन के दौरान इस तरह के कार्यक्रम के लिए प्रशासन ने लोगों के शामिल होने की सीमा भी तय कर रखी है। इस तरह के मौकों पर अधिकतम 20 लोग शामिल हो सकते हैं। प्रशासन को खबर मिली थी शनिवार को पेंड्री में बिना अनुमित के कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा ,जिसकी बाद SDM मेनका प्रधान और SDOP की टीम मौके पर पहुंची। वहां शांतिलाल के घर कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था। अफसरों ने लोगों को जमकर फटकारा।

जांजगीर जिले में बढ़ रहा संक्रमण अब लापरवाह लोगाें को नहीं करेंगे नजर अंदाज
SDM ने बताया कि 8 अप्रैल शांतिलाल की पत्नी का निधन हो गया था,जिसका दशगात्र कार्यक्रम शनिवार को आयोजित था। उन्होंने अनुमति भी नहीं ली थी। कलेक्टर के आदेश पर जांच की गई तो कंटेनमेंट जोन का उल्लंघन पाया गया। आयोजक के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए निर्देशित किया गया है। जिले में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता रहा है। शनिवार को भी जिले में 822 कोरोना मरीज मिले थे। जबकि शुक्रवार को 579 कोरोना के मरीज सामने आए थे। चिंता की बात ये ही अकेले शनिवार को ही जिले में 8 लोगों की कोरोना से मौत हो गई थी। इस प्रकार जिले में अब तक 291 मरीजों की मौत हो चुकी है।

Print Friendly, PDF & Email

election result

election resultCorona

Translate »