जलगांव के किंगांव के पास मजदूरों को ले जा रहा ट्रक पलटा; 16 मजदूरों की मौत, राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने जताया शोक

जलगांव/ महाराष्ट्र के जलगांव में रविवार रात करीब एक बजे बड़ा हादसा हो गया। यहां किंगांव के पास एक ट्रक पलट गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस ट्रक में पपीता भरा था और 19 मजदूर भी इसमें बैठे थे। इनमें से 16 की मौत हो गई। 4 घायल हैं। हादसे की जो तस्वीरें सामने आई हैं, उनमें बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं।

किंगांव के पास यवल रोड पर ये हादसा रविवार रात करीब एक बजे हुआ।

किंगांव के पास यवल रोड पर ये हादसा रविवार रात करीब एक बजे हुआ।

पुलिस के मुताबिक, किंगांव के पास अंकलेश्वर-बुरहानपुर स्टेट हाइवे पर हादसा हुआ। एक मोड़ पर ट्रक की स्टेयरिंग की रॉड टूट गई। इसके बाद ड्राइवर ने नियंत्रण खो दिया। ट्रक पलटने की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रक को क्रेन के जरिए सीधा किया। तब तक कई मजदूरों की जान जा चुकी थी।

ट्रक को क्रेन की मदद से सीधा किया गया। तब तक कई मजदूरों की जान जा चुकी थी।

ट्रक को क्रेन की मदद से सीधा किया गया। तब तक कई मजदूरों की जान जा चुकी थी।

15 मृतकों की पहचान हुई
हादसे में मरने वाले 15 लोगों की पहचान हो गई है। इनमें शेख हुसैन शेख, सरफराज कसम तंणावी, नरेंद्र वमन बाग, दिगंबर माधव, दिलदार हुसैन तंणावी, संदीप युवराज भारेराव, अशोक जगन, दुराबाई संदीप भारेराव, गणेश रमेश मोरे, शारदा रमेश मोरे, सागर अशोक बाग, संगीता अशोक बाग, समनबाई इंगले, कामाबाई रमेश मोरे और सबनुर हुसैन तंडावी शामिल हैं।

मृतकों में छह लोग एक ही परिवार के
हादसे में मृत मजदूरों में छह एक ही परिवार के लोग हैं। अन्य मृतकों में दो बच्चे और छह महिलाएं भी शामिल हैं। सभी जलगांव के रावेर तहसील के रहने वाले हैं। रोजाना ये मजदूरी के लिए किनगांव जाते थे। फिर वहां से शाम को किसी गाड़ी पर बैठकर घर लौटते थे। रविवार देर शाम भी ये पपीता लदे ट्रक पर सवार होकर घर की ओर लौट रहे थे।

रविवार को ही आंध्र के कुर्नूल में हादसा हुआ, 14 की जान गई
आंध्र प्रदेश के कुर्नूल में भी रविवार सुबह बस-ट्रक की टक्कर में 14 लोगों की मौत हो गई थी। हादसा कुर्नूल से 25 किलोमीटर दूर वेलदुरी मंडल के मदारपुर गांव के पास सुबह साढ़े 3 से 4 बजे के आसपास हुआ था। मरने वालों में 8 महिलाएं और एक बच्चा भी शामिल है। बस चित्तूर जिले से राजस्थान के अजमेर जा रही थी।

Print Friendly, PDF & Email

Corona

Corona

Translate »